Literature

Literature

पुस्तक समीक्षक:

यदि आपको पुस्तक पढने और उसे पर समीक्षा लिखने में गहन रूचि है और अपने कार्य से हिंदी साहित्य के प्रचार-प्रसार में अपना सक्रिय सहयोग देना या सहभागिता चाहते है तो हमें संपर्क करे|

Email  info@favreads.in  या favreads.india@gmail.com

हमें अतिथि योगदानकर्ता / अतिथि संपादक / अतिथि ब्लॉगर / अतिथि  स्तंभकार/ अतिथि  पुस्तक समीक्षक के रूप में शामिल हों |

हम साहित्य से सम्बंधित अपने विचार,  अनुभव,  और साहित्य के प्रचार/प्रसार  से संबंधित लेखों को प्रकाशित करने में खुशी महसूस करते हैं. अपने विचार को पुरे दुनिया के पाठकों तक पहुचने के लिए हमसे जुड़े|

Email  info@favreads.in /favreads.india@gmail.com

प्रशिक्षु:

यदि आप विद्यालय या महाविद्यालय के छात्र है (उदहारण MPhil, PHD, MA हिंदी साहित्य सम्बन्धी, हालांकि यह बहुत जरूरी नहीं है) और साहित्य लेखन , पुस्तक  समीक्षा में रूचि रखते है तो आपके लिए  प्रशिक्षु के रूप में हमारे साथ जुड़ने और कार्य करने का अवसर है| यहाँ लेखन सम्बन्धी कई गतिविधियाँ करने का अवसर प्राप्त होगा|

अगर आप प्रशिक्षु  के रूप में हमारे साथ जुड़ना कहते है तो हमसे संपर्क करे :

Email  info@favreads.in /favreads.india@gmail.com

 

 

सोशल मीडिया विशेषज्ञ :

यदि आप सोशल मीडिया विशेषज्ञ है और  हमारे परियोजना से  भारतीय साहित्य के कार्य को प्रचारित, प्रसारित करने में जुड़ना चाहते है तो हमसे संपर्क करे|

Email  info@favreads.in /favreads.india@gmail.com

 

Technological Experts…with a blend of Literature:

If you are a Technocrat with a blend of Literature(Hindi, English or any Indian Language)…we have a great challenge which is technological yet related to related to literature.

If you are an expert in the area of Machine learning (ML), Natural Language Processing (NLP) and related technologies, that would be even greater. We believe you will find this challenge as very exciting and fulfilling.

To know about this do contact us on

Email  info@favreads.in /favreads.india@gmail.com

पाठकीय टिप्पणियां :
अगर आपने पहले कोई समीक्षा नहीं लिखी है पर आप पुस्तक पढने के बाद उसके कथ्य को अपने शब्दों में कहना पसंद करते हैं और पुस्तक आपको कैसी लगी, उसमें कौन से पात्र व घटनाओं ने विशेष प्रभावित किया और क्यों, ये बातें आप लोगों को बताने में प्रसन्नता अनुभव करते हैं तो आप निश्चय ही एक भावी समीक्षक हैं|

शुरुआत पाठकीय टिप्पणियों से करते हुए धीरे-२ आप अच्छी समीक्षाएं लिखने लगेंगे| हम आपकी पाठकीय टिप्पणियों को भी वेबसाईट पर प्रकाशित करेंगे|