तमस कहानी एक छोटे शहर की सीमा रियासत  की है.  कहानी विभाजन से पहले की है . इस पुस्तक में, लेखक एक सफाई कर्मचारी के रूप में काम करने वाले नाथू की कहानी  हैं. जो एक क्षेत्रीय मुस्लिम राजनीतिक नेता द्वारा रिश्वत और धोखा दिया जाता है और  एक सुअर को  मरवा दिया जाता है.

अगली सुबह, मृत सुअर का शव एक स्थानीय मस्जिद की सीढ़ियों पर पाया और तनाव से भरे शहर में अधिक गुस्से से गूँज उठता है. नाराज मुसलमान हिन्दू और सीखो को मार डालते है और  हर इसके  जवाबी कार्यवाही मैं मुस्लिम मारे जाते है.
ये कहानी हमारे देश की दशा का सही चित्रण करता है की  कैसे , भोले भले लोगो के धार्मिक भावनाओ से खेल कर लोग अपना फायदा उठाते है.

-SV